Home » Thoughts » खूब जमेगी हम दोनों में मेरे जैसा तू भी है

खूब जमेगी हम दोनों में मेरे जैसा तू भी है

खूब जमेगी हम दोनों में मेरे जैसा तू भी है

थोडा झूठा मैं भी ठेहरा थोडा झूठा तू भी है

एक मुद्दत से फासला कायम सिर्फ हमारे बीच ही क्यों

सब से मिलता रेहता हूं मैं सब से मिलता तू भी है

3 thoughts on “खूब जमेगी हम दोनों में मेरे जैसा तू भी है

  1. Ek Falak mein Ek Zameen par Mera bheja tu bhi hai

    Mere jhoot se duniya chalti Mera purza tu bhi hai

    Jiss pal tu sach ko apnaye , Mere jaisa tu bhi hai.

    Tyag Aham ko Brahm mein aa ja mera pyaara tu bhi hai.

    Janam janam se saath hun tere, Phir bhi pyaasa tu hi hai.

    Main aur tu ke iss chakkar ka aaj to maara tu bhi hai.

    Aaj gamon se maari duniya har pal kahti tu hi hai.

    Here’s to our tuning , your intellect and our everlasting wavelength Boss.

    Welcome back to India!

    • रवी जी – इन सुन्दर पंक्तियों के लिये आभार. आपकी अभिव्यक्ती ने इस गज़ल को एक अलग लेवेल पे पहुंचा दिया.
      अभी मैं अमरीका में ही हूं 31 को वापसी है. ब्लाग से जुडे रहियेगा अन्यथा फोन से बात होगी.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s