1130 पर

जो सही है वो सही है

जो नहीं हैं  वो नहीं है

फलसफा ए ज़ीस्त

अपना तो बस यही है…

 

~  आहंग